headertechf

Latest

Painful periods and menstrual cramps remedies| पीरियड के दौरान होने वाला दर्द

yogasan for periods, yog in menstrual cramps
फ्रेंड्स,आज हम बात करेंगे उस समस्या की जिससे हर महिला को गुजरना ही पड़ता है। ये एक ऐसी समस्या है जिसे महिलाएं खुल कर सबसे कह भी नहीं पाती। जब दर्द असहनीय हो जाता है तब पेन किलर का सहारा लिया जा सकता है लेकिन ये तरीका सेफ नहीं है, और इसके साइड इफ़ेक्ट भी हैं। आज आप जानेंगे की पीरियड के दौरान होने वाले दर्द को घरेलू और आयुर्वेदिक तरीके से कैसे कम और दूर करे। ताकि कोई साइड इफ़ेक्ट भी ना हो और आपको दर्द से छुटकारा भी मिल जाये। पीरियड के दौरान महिलाओं को पेट के निचले हिस्से में दर्द होता है वह एक सामान्य दर्द है। लेकिन कभी कभी असहनीय हो जाता है, उसका कारण है "प्रोस्टाग्लैंडीन", यह एक बॉडी हार्मोन है, जो गर्भाशय में बनता है। ये हार्मोन डिलीवरी के समय भी सक्रिय होता है। अगर इस दौरन खून की कमी है तो इस से मासपेशियों को तकलीफ होती है। अगर ऐसा दर्द कभी-कभार होता है तो घरेलू उपचार करें लेकिन, अगर आपको ज्यादा दर्द होता है तो डॉक्टर से इलाज करवाए।

पीरियड में होने वाले दर्द को दूर करने के घरेलू उपचार | Periods pain

मेथी दाना | Fenugreek seeds

जब दर्द से परेशान हों तब एक चम्मच मेथी दाना एक गिलास हलके गरम पानी के साथ लें, आपको जल्दी ही दर्द से आराम मिलेगा।  ये आप दिन में दो से तीन बार तक ले सकती हैं।

पपीता | Papaya

पपीता पेट के लिए काफी फायदेमंद है, अगर आपको अनियमित पीरियड होते हैं और आपको पीरियड के दौरान दर्द होता है तो इसे कम करने के लिए अधिक से अधिक पपीता खाएं। और साथ में केला आदि कैल्शिम वाले फ्रूट को रोजाना खाएं।

गर्म पानी से सिकाई | Hot therapy

गरम पानी की सिकाई एक घरेलू इलाज है। गरम पानी की सिकाई से गर्भाशय की मासपेशियों को राहत मिलती है।इसके लिए अगर आपके पास प्लास्टिक की बॉटल या थैली है तो इसमें गरम पानी भरके पेट के नीचे वाले भाग पर सिकाई करे। 

दालचीनी | Cinnamon

दालचीनी में कैल्सियम, आयरन ओर फाइबर काफी मात्रा में होते हैं। और साथ में ऐसे गुण होते हैं कि जिससे पीरियड के दौरान होने वाले दर्द को कम करने में सहायता मिलती है। एक ग्लास गरम पानी के साथ एक चमच्च दालचीनी और साथ में एक चमच्च शहद के साथ पीरियड के पहले दिन में 2-3 बार पिये।

सौंफ |Fennal seeds

सौंफ बहुत लाभदायक है ये गर्भाशय में होने वाले क्रैम्प्स को शांत करके बेचैनी और दर्द को कम करती है।पीरियड शरु होने के दिन से 3 तीन दिन तक बत्तीस तरह लें- एक चमच्च सौंफ पानी से साथ धीमी आंच पर उबलने दे बाद में उसे ठंडा होने दें, इस मिश्रण में एक चमच्च शहद मिलाकर सेवन करें।

सोंठ | Dry ginger

सूखी अदरक या सोंठ पीरियड के दौरान होने वाले दर्द को कम करने में मदद करता है। कुछ देर तक सोंठ को पानी में भीगा दें अब सोंठ का पेस्ट बनाकर देसी घी में भून लें, ठंडा करके शहद मिश्री मिला कर १ चम्मच खाएं।  ये आप दिन में दो बार ले सकती हैं।  

पेन किलर टेबलेट्स | Pain killer tablets

अगर आप कोई पेन किलर टेबलेट कहती हैं तो उसके साइड इफेक्ट्स के बारे में जान लें।  आपको परेशानी या ज्यादा दर्द है तो प्लीज पहले डॉक्टर की एडवाइस से टैबलेटस लें। ऐसा ना करना आप की समस्या को बढ़ा भी सकता है।

योगासन | yogasana

yogasan for periods, yog in menstrual cramps
योग के कुछ आसान से पोस्चर भी पीरियड में होने वाले पेन को मैनेज करने में काफी मददगार है जैसे - कोणासन, धनुरासन, सर्वांगासन, उष्ट्रासन आदि काफी फायदेमंद हैं। 
फ्रेंड्स, आपको ये आर्टिकल कैसा लगा हमें कमेंट कर के जरूर बताएं, और वेबसाइट को दोबारा विजिट करना न भूलें।
---------------------
पीरियड्स में पैड्स के आलावा लड़कियां ये प्रोडक्ट्स भी इस्तेमाल कर सकती हैं
ये तथ्य जानेंगे तो आईने में फ़ौरन अपना चेहरा देखेंगे
लड़कियां अकेले में गूगल पर क्या सर्च करती हैं 
3 सबसे बड़े झूठ, जिन्हे आप भी सच मानते होंगे
जब छींक आती है तो आँखें बंद क्यों हो जाती हैं
क्या है वो चीज़ जो सूखी है तो 1 किलो, गीली होकर दो किलो, और जल जाये तो 3 किलो हो जाती है 
अगर नहीं जानते हैं कि स्मार्ट फोन को एंड्राइड फोन क्यों कहते है, तो जानिए 

No comments